Hindi

IPL 2021 में विदेशी खिलाड़ियों के खेलने की संभावना को देखते हुए बीसीसीआई कर रहा है प्रयास

कुछ दिन पहले बीसीसीआई ने आईपीएल 2021 को फिर से शुरू करने का फैसला किया था, जिसे कोरोना संकट के कारण स्थगित कर दिया गया था। बीसीसीआई ने अपनी विशेष कार्यकारी बैठक में इस साल के आईपीएल में 29 मैच भारत में और शेष 31 मैच यूएई में आयोजित करने का फैसला किया है। जहां बीसीसीआई फिलहाल बाकी आईपीएल की प्लानिंग में व्यस्त है, वहीं बीसीसीआई के सामने सबसे बड़ा सवाल विदेशी खिलाड़ियों को आईपीएल में खेलने को लेकर है। इससे पहले, इंग्लैंड क्रिकेट क्लब ने घोषणा की थी कि वह खिलाड़ियों को आईपीएल में खेलने की अनुमति नहीं देगा क्योंकि टी20 विश्व कप नजदीक है। जब से इस तरह की मांग दूसरे देशों से आने लगी है तो विदेशी खिलाड़ी इस साल आईपीएल में क्यों नहीं खेलेंगे? वह सवाल खड़ा हुआ जिसके बाद बीसीसीआई अब विदेशी खिलाड़ियों को खेलने की तैयारी कर रहा है।

विदेशी खिलाड़ियों को आईपीएल के बाकी बचे मैचों में खेलने की अनुमति देने के लिए बीसीसीआई सभी क्रिकेट बोर्ड के संपर्क में है। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, “बीसीसीआई यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है कि हर साल खेलने वाले सभी विदेशी खिलाड़ी इस साल भी खेलना चाहें।” इसके लिए बीसीसीआई अन्य क्रिकेट बोर्ड और क्रिकेटरों को आश्वस्त करने की कोशिश कर रहा है कि पूरी सुरक्षा और सावधानी बरती जाएगी।’

यह एक कार्यक्रम हो सकता है

आईपीएल 2021 में अब तक 29 मैच हो चुके हैं और 31 मैच बाकी हैं। तो शेष 31 मैच 27 लीग गेम और 3 डबल हेडर मैच होंगे। इस बीच अब तक के सूत्रों के मुताबिक मुकाबला 19 सितंबर से शुरू हो सकता है। फाइनल 15 अक्टूबर को खेला जा सकता है।

आईपीएल में कोरोना का प्रकोप

इस बीच मई की शुरुआत में आईपीएल में कोरोना का प्रकोप देखने को मिला। 3 मई को आरसीबी के खिलाफ केकेआर का मैच खिलाड़ियों के कोरोना संक्रमण के कारण रद्द कर दिया गया था। फिर 4 मई को दिल्ली की राजधानी के अमित मिश्रा और सनराइजर्स हैदराबाद के रिद्धिमान साहा ने कोरोना के लिए सकारात्मक परीक्षण किया। इसलिए बीसीसीआई ने 4 मई को आईपीएल को स्थगित करने का फैसला किया था।

यह भी पढ़ें:

Archery World Cup: दुनिया की नंबर वन तीरंदाज बनीं दीपिका कुमारी

Back to top button