कोरोनावायरस

भारत में कोरोना के बाद नए खतरनाक वायरस की एंट्री ?

कोरोना वायरस की पहली लहार पर काबू पा लिया था पर यह ख़ुशी ज्यादा दिन टीकी नहीं क्योंकि पहली लहर थमने के कुछ महीने बाद ही देश में फिर से कोरोना फैला । यह दूसरी लहर बेहद भयानक थी। इस कोरोना लहर ने हजारों मरीजों की जान ले ली है । अब जब यह लहर भी ढलती नजर आ रही है तो अब जानकारों ने दावा किया है कि कोरोना वायरस के बाद एक और खतरनाक वायरस देश में एंट्री हो गयी है।

पहला संक्रमित मरीज गाजियाबाद में मिलने का दावा

विशेषज्ञों ने दावा किया है कि भारत में कोरोना वायरस से भी ज्यादा खतरनाक नया वायरस पाया गया है। गाजियाबाद के एक अस्पताल में इस वायरस का पहला मामला सामने आया है । गाजियाबाद के एक अस्पताल में एक मरीज की नाक में हर्पीज सिम्प्लेक्स वायरस नाम का नया वायरस मिला है। डॉक्टरों ने दावा किया है कि यह वायरस कोरोना वायरस से भी ज्यादा घातक है। नए वायरस का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने भारत के गाजियाबाद में पहला संक्रमित मरीज मिलने का दावा किया है। डॉक्टर की माने तो अगर इस वायरस को काबू में नहीं किया गया तो यह देश में फैले सकता है ।

कोरोना पर काबू पाने वालों को बड़ा खतरा

इसको लेकर गाजियाबाद के डॉ बीपी त्यागी ने मीडिया को बताया की एक मरीज जो कोरोना बीमारी से ठीक हो गया था, उसे उनके अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस मरीज की नाक में हर्पीज सिम्प्लेक्स वायरस नाम का नया वायरस मिला है। यह वायरस बहुत ही खतरनाक है। वायरस से संक्रमित मरीज का इलाज में देरी करना कोरोना से भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है। विशेष रूप से, वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज बहुत महंगा है, ऐसा दावा डॉ. त्यागी ने किया।

क्या है इसका इलाज?

जिन नागरिकों ने हाल ही में कोरोना से ठीक हुए है, उन्हें और सावधान रहने की जरूरत है। डॉ. त्यागी ने बताया कि कोरोना संक्रमण इम्यून सिस्टम को कमजोर करता है। इसलिए जिन मरीजों ने हाल ही में कोरोना को मात दी है उन्हें अपने खान-पान और आराम पर ध्यान देना चाहिए। साथ ही किसी भी तरह की दौड़ भाग करने से बचे।

यह भी पढ़ें:

विश्व स्वास्थ्य संगठन की सूची में कोवैक्सिन के टीके लगाने वालों के लिए अच्छी खबर, शामिल होने की संभावना

Back to top button