Uncategorized

फीकी पड़ी सोने की चमक, ऊंचाई से 8,000 रुपये सस्ता

वायदा बाजार में मंगलवार को सोने और चांदी में चमक देखने को मिली। अंतरराष्ट्रीय गिरावट से भारतीय जिंस बाजारों में सोना 48,493 रुपये प्रति 10 ग्राम टूटा। कुछ देर बाद दाम फिर बढ़ गए। वहीं, वायदा कारोबार में 0.72 फीसदी की गिरावट आई।

सोने की नई दरें
मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अगस्त डिलीवरी वाला सोना 35 रुपये की तेजी के साथ 48,558 रुपये प्रति औंस हो गया। सोमवार को सोना 0.8 फीसदी टूटा। गिरावट अंतरराष्ट्रीय स्तर पर डॉलर के मूल्य में वृद्धि के कारण थी।

चांदीची नवी किंमत
चांदीच्या जुलै वायद्याची किंमत 514 रुपयांनी घसरुन प्रतिकिलो 71,365 रुप ये इतकी झाली.आंतरराष्ट्रीय बाजारातही चांदीचा प्रतिऔंस भाव 0.7 टक्क्यांनी घसरुन 27.64 डॉलर्स इतका झाला.

क्यों घटी सोने की कीमत?
यूएस फेडरल रिजर्व की क्रेडिट पॉलिसी मीटिंग बुधवार को खत्म होने वाली है। इसलिए निवेशक सतर्क हैं। मौजूदा डॉलर भी एक महीने के उच्च स्तर के करीब है। नतीजतन, सोने की कीमतों में गिरावट की बात कही जा रही है।

सोने खरेदीसाठी आजपासून हॉलमार्किंग अनिवार्य
येत्या काही दिवसांमध्ये तुम्ही सोने खरेदी करण्याचा विचार करत असाल तर आता तुम्हाला एका गोष्टीची काळजी घ्यावी लागणार आहे. कारण, आजपासून सोन्याच्या दागिन्यांवर हॉलमार्किंग (Hallmark) असणे बंधनकारक करण्यात आले आहे. खरंतर या नियमाची अंमलबजावणी 1 जूनपासून होणार होती. मात्र, कोरोना परिस्थितीमुळे ही मुदत 15 दिवसांनी वाढवण्यात आली. त्यानुसार आजपासून या नव्या नियमाची अंमलबजावणी होईल.

नियमों के मुताबिक अब हॉलमार्क (बीआईएस हॉलमार्क) होने पर ही 14, 18 और 22 कैरेट के सोने के आभूषण बेचे जा सकेंगे। अन्यथा संबंधित सराफा व्यापारी को गहनों के मूल्य का पांच गुना तक जुर्माना या एक वर्ष की कैद हो सकती है। हॉलमार्किंग के लिए पंजीकरण प्रक्रिया को भी ऑनलाइन उपलब्ध कराया गया है। इसलिए अब सभी सर्राफा व्यापारियों के लिए अपने गहनों पर हॉलमार्किंग लगाना अनिवार्य होगा। इससे ग्राहकों को धोखा दिए बिना उन्हें शुद्ध सोना मिल जाएगा।

यह भी पढ़ें:

वनप्लस का दमदार स्मार्टफोन एक बार फिर हुआ सस्ता, देखें नई कीमत

Back to top button