Hindi

इंटरव्यू: फिलहाल 2 के सेट पर सुबह 4 बजे पहुंच जाते थे अक्षय, नुपुर सेनन बोलीं- ‘मैं टाइम मिलाने के लिए 2 बजे उठकर तैयारी करती थी’

  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Akshay Used To Reach The Set Of Filhaal2 At 4 In The Morning, Nupur Sanon Said ‘I Used To Get Up At 2 O’clock To Get Time And Prepare’

अमित कर्ण6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अक्षय कुमार की ‘फिलहाल’ सॉन्‍ग का सीक्‍वल ‘फिलहाल 2 मोहब्‍बत’ हाल ही में यूट्यूब पर रिलीज हुआ है। रिलीज के तीन दिनों में ही इसे 115 मिलियन व्‍यूज मिल चुके हैं। गाने की हीरोइन नुपूर सैनन ने गाने की मेकिंग और सीनियर अक्षय से मिली नसीहतें साझा की हैं। दैनिक भास्‍कर के पाठकों के लिए पेश हैं प्रमुख अंश-

इस बार भी गाने ने व्‍यूज का रिकॉर्ड क्‍यों तोड़ा है?

इसमें जितने भी किरदार हैं, उनमें इनोसेंस और सिंप्‍लीसिटी है। अब दर्शक सिर्फ फैन बनकर फिल्‍म या सॉन्‍ग को नहीं देखते। वो इमोशन को फील करना चाहते हैं। वो विश्‍वास करना चाहते हैं कि ऐसे किरदार सच में हैं। इस गाने से लोग कनेक्‍ट कर रहें हैं। इससे जाहिर है कि देश में ढेर सारे युवा हैं, जिनके दिल टूटे हुए हैं। यह दुखद है, पर हकीकत है।

आप दोनों के किरदार शादीशुदा हैं, मगर गाने में लाइन हैं,’ मैं किसी और का हूं फिलहाल कि तेरा हो जाऊं’। यानी अगले पार्ट में कहीं आप दोनों ही तो अपनी शादियां तोड़ एक हो सकते हैं?

अगर जन्‍नत के जहान में जाएं तो दोनों का दिल तो वही चाहता है, मगर सोसायटी और सही-गलत के भान के चलते हम आप उसमें फंसकर रह जाते हैं। पहले पार्ट में मेरा किरदार मेहर का था जो अपनी शादी से अवाक थी। उसे शादी नहीं चाहिए थी। मेहर के पिता ने कहीं और शादी कर दी थी। संयोग से मेहर का पति जिसे ऐमी विर्क प्‍ले कर रहे, वह अच्‍छा इंसान है। लिहाजा इस पार्ट में मेहर अपनी शादीशुदा जिंदगी से मूव ऑन नहीं कर पा रही है। इस गाने के सारे किरदारों की नीयत साफ है। तभी इतनी बड़ी तादाद में यह लोगों को इंप्रेस कर रही है।

इस बार यह गाना कितने दिनों में शूट हुआ? कैसी थी गाने की मेकिंग?

पूरे टाइम तो लॉकडाउन ही चल रहा था। तो जैसे-जैसे परमिशन मिलती, हम शूट कर लेते थे। कई बार तो ऐसा भी हुआ कि परमिशन वाले दिन भी लॉकडाउन लगा और हमें शूट कैंसिल करना पड़ा। आगे प्‍लान करना मुश्किल होता, क्‍योंकि अक्षय सर दूसरी फिल्‍मों की शूट में बिजी हो जाते थे। हमने वैसे दिल्‍ली के आउटस्‍कर्ट जैसे मानेसर, गुड़गांव आदि जगहों पर शूट किया था। बाकी पोर्शन मुंबई में था।

अक्षय क्‍या नसीहतें देते रहें, जो आप को ग्‍लैमर के फील्‍ड में काम आने वाली हैं?

उनका नेचर ऐसा था, जो काम करना बड़ा आसान रहा। दूसरी तरफ वो इतने अनुभवी हैं, जो मुश्किल भरा शॉट भी चुटकियों में कर देते थे। ऐसे में वहां उन्‍हें मैच करने के लिए मुझे काफी होमवर्क करना पड़ता था। धूप तो जाड़ों की थी, मगर हेवी मेकअप, जूलरी, कॉस्‍ट्यूम में रहना बड़ा चुनौतीपूर्ण होता था। वो हमेशा कहा करते थे कि जितना हो सके, वैनिटी में कम से कम रहूं। सेट पर जो क्रू मेंबर्स हैं, असिस्‍टेंट्स हैं या कोई और हैं, उनसे बातें करूं। कॉन्‍टैक्‍ट बढ़ाऊं। पता करूं कि तकनीकी मोर्चे पर फिल्‍म जगत पर क्‍या हो रहा। मैं वही करती रही हूं। मुझे अक्षय सर से लेकर किसी ने नहीं फील करवाया कि मैं न्‍यूकमर हूं।

अक्षय बड़े स्‍टार हैं। उनकी और कौन सी बात आप को अनूठी लगी?

वो अपने करियर के बेस्‍ट फेज में हैं। ऐसे दौर के चलते अक्षय सबसे सेक्‍योर फील करते हैं खुद को। वो करियर के तमाम उतार चढ़ाव देख चुके हैं। ऐसे में उनके सुझाव खासे मायने रखते हैं। बतौर एक्‍टर भी वह अब खुद के ही सबसे बेस्‍ट वर्जन हैं। एक वजह है, जो वो मेगास्‍टर या खिलाड़ी कहलाते हैं। हमने गाने को महज चार दिन में ही शूट कर लिया। वह भी अनूठे टाइम टेबल में। वह यूं कि अक्षय सर सुबह चार बजे ही शूट शुरू कर देते थे। ऐसे में मुझे रात दो बजे से ही तैयारियां शुरू करनी पड़ती थीं। हमारे हेयर एंड मेकअप को तीन बजकर पचास मिनट तक सब पूरा कर देना पड़ता था। ताकि अक्षय सर का वक्‍त जाया न हो।

अगर मौका मिलता तो अक्षय के अपोजिट किस फिल्‍म की हीरोइन बनना पसंद करतीं?

‘नमस्‍ते लंदन’। मुझे उनकी वह फिल्‍म बेहद पसंद है। उसमें भी उनका पंजाबी युवक वाला किरदार और आउटफि‍ट वगैरह ऐसा ही था, जैसा एक हद तक ‘फिलहाल’ में है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Back to top button